भानपुरा मे वर्षा का आंकडा 44 इंच पार पंहुचा जल स्त्रोत लबालब खरीफ फसलो को होने लगा नुकसान

भानपुरा मे वर्षा का आंकडा 44 इंच पार पंहुचा जल स्त्रोत लबालब  खरीफ फसलो को होने लगा नुकसान
भानपुरा मे वर्षा का आंकडा 44 इंच पार पंहुचा,जल स्त्रोत लबालब ,खरीफ फसलो को होने लगा नुकसान
भानपुरा। विगत एक सप्ताह मे भानपुरा नगर व तहसील मे रिकार्ड 16 इंच बारिश हुई हे ओर अब तक यह आंकडा 44 इंच के पार पंहुच गया है। जोरदार बारिश से सभी जलस्त्रोत सतह के बाहर बहने लगे हे खेतो मे पानी भर गया हे जिससे खरीफ फसलो को नुकसान होने लगा हे किसानो का मानना हे कि अब फसलो को बीस दिन कम से कम खुला मौसम चाहिए। भानपुरा क्षेत्र मे वर्षा का वार्षिक औसत 36 इंच है, जो पर्याप्त रहता है। गतवर्ष भी भानपुरा क्षेत्र मे लगभग 50 इंच बारिश हुई थी। जोरदार बारिश से मौसम मे ठण्डक आ गई है। कई सडके जो पहले से ही जर्जर थी ओर जर्जर हो गई हे इनमे भानपुरा से व्हाया लोटखेडी से भवानीमण्डी,भानपुरा से रामगजंमण्डी मप्र सीमा तक,भानपुरा से लेदी चोराहा होकर भवानीमण्डी सडके जानलेवा साबित हो रही है। बीते काफी लंबे समय से इन मार्गों की काफी दयनीय स्थिति के बावजूद संबंधित विभाग एवं क्षेत्र के जनप्रतिनिधि पूरी तरह उदासीन है। भवानीमण्डी कि भानपुरा से दुरी मात्र 15 किलो मीटर है। जर्जर सडक के कारण वाहनो को पंहुचने मे एक सै डेढ घण्टा लग रहा है। उसमे भी वाहन क्षतिग्रस्त हो रहे हे पुरी सडक बडे बडे गडृडो मे तब्दील हो गई है। यही हालात भानपुरा से रामगजंमण्डी सडक का है।
फोटो.... बारिश के बाद भवानीमण्डी भानपुरा सडक कि स्थिति